Connect with us

लाइफ स्टाइल

घूमने आयी ऑस्ट्रेलियाई महिला को हुआ मंदिर के पुजारी से प्यार, दोनों ने रचाई शादी-

Published

on

घूमने आयी ऑस्ट्रेलियाई महिला को हुआ मंदिर के पुजारी से प्यार, दोनों ने रचाई शादी-

भारतीय संस्कृति की दुनिया भर में पहचान है. देश और विदेश से हर साल लाखों लोग भारत में घूमने आते हैं. और यहाँ की संस्कृति का आनंद उठाते हैं.भारतीय संस्कृति दुनिया की सबसे पुरानी संस्कृति मानी जाती है.भारत में आये किसी भी व्यक्ति को भरपूर सम्मान दिया जाता है.हाल ही में एक ऑस्ट्रेलियाई महिला उत्तराखंड की खूबसूरती का भ्रमण करने के लिए आयी थी.

इस दौरान उसने मंदिरों का भी भृमण किया था और चौकाने वाली यह है कि उसे इस दौरान मंदिर के पुजारी से प्यार हो गया। आपको बता दें, यह मामला उत्तराखंड के श्रीनगर के प्रसिद्ध पैटर्न धारा मंदिर का है जहां ऑस्ट्रेलियन महिला ने एक सन्यासी बाबा बर्फानी दास के साथ हिंदू रीति रिवाज से शादी रचा ली और वह अब ख़ुशी ख़ुशी अपना जीवन बिता रही हैं.

australian woman

दरअसल, आपको बता दें, 40 वर्षीय जूलिया बुल (juliya bull) नाम की एक महिला नवरात्रि के मौके पर बद्रीनाथ आई थी। इस दौरान जूलिया के साथ उनका 5 साल का बेटा भी था। बल्कि उनका दूसरा 14 साल का बेटा ऑस्ट्रेलिया में ही था जो पढ़ाई कर रहा था। बद्रीनाथ के मंदिरों में दर्शन करने के दौरान जूलिया की मुलाकात बाबा सिद्ध नाथ महाराज बर्फानी धाम से हुई।

शादी करने के बाद इस महिला का कहना है कि वह पिछले काफ़ी समय से भारतीय संस्कृति को फ़ॉलो कर रही है. उसे भारतीय संस्कृति से बेहद गहरा प्यार है.जूलिया ने आगे कहा कि काफी लंबे समय से बाबा के ग्राम चमौली स्थान बंद महेश्वर आश्रम में रह रही थी। इस दौरान जूलिया ने योग साधना की। इसके अलावा ब्रह्मविद्या का ज्ञान भी लिया।

australian woman

कहा जा रहा है कि, आश्रम में रहने के दौरान जूलिया का छोटा बेटा बाबा को पिताजी कहकर ही बुलाने लगा था जिसके बाद जूलिया ने पंडित से ही शादी करने का निर्णय ले लिया। जब जूलिया ने पंडित से शादी के बारे में बातचीत की और उनके सामने शादी करने का प्रस्ताव रखा तो बाबा मना नहीं कर पाए। इसके बाद मंदिर के सभी सदस्यों के सामने दोनों ने हिंदू रीति-रिवाजों के साथ शादी रचाई।

 

australian woman

खबरों के मुताबिक़, इस महिला ने अपना नाम बदलकर जूलिया से माता ऋषिवन करा लिया है.जूलिया बताती है कि भारतीय संस्कृति में गहरी आस्था है. उसे भारतीय संस्कृति और यहाँ के लोगो पर पूरा भरोसा है.

बता दें, जूलिया ऑस्ट्रेलिया में एक योगा टीचर है वह ऑस्ट्रेलिया में लोगो को मेडिटेशन सिखाने काम करती थी,इनका ऑस्ट्रेलिया में एक आश्रम भी है जिसमें रोजाना बहुत सारे लोग योगा सीखने के लिए आते हैं.शांति द्वार नाम के आश्रम को चलाने वाली जूलिया की पहले ही शादी हो चुकी है और उसका किसी कारणवश तलाक हो गया था

बता दें, जूलिया के पास एम बी ऐ की डिग्री है.जूलिया का शादी करने के बाद कहना है कि भारत में आने के बाद वह अपना जीवन खुशहाल रूप से व्यतीत कर रही है। उन्होंने कहा कि, वह ऑस्ट्रेलिया से और भी लोगों को चमौली लाना चाहती है और उन्हें योग की शिक्षा देना चाहती है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *