Connect with us

विशेष

कोरोना काल में इन 20 एयरलाइन्स से यात्रा करना रहेगा सेफ़, रिसर्च के बाद जारी की गई लिस्ट

Published

on

2020 में आया कोरोना वायरस और उसने सभी देशों के बीच आवागमन बंद कर दिया. साल के मध्य में ज़रूर लोगों को कुछ राहत मिली और अधिकतर देशों के बीच या फिर घरेलू फ़्लाइट्स शुरू हो गई. कोरोनाकाल में प्लेन से सफ़र करने का अंदाज़ भी बदल गया. अधिकतर नेशनल और इंटरनेशनल एयरलाइन्स पैसेंजर की सेफ़्टी के बारे में सोचने लगी.

safest airlines for COVID-19

Source: indianexpress

उन्होंने इसके लिए यात्रियों को पीपीई किट्स, मास्क और फ़ेस शील्ड देना शुरू कर दिया. एयरलाइन्स कॉन्टेक्ट लेस सर्विस भी प्रोवाइड करने लगी. 2021 में भी एयरलाइन्स इन सर्विस को जारी रखेंगी. कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए Airlineratings.com ने एक सर्वे कर इस साल की टॉप 20 एयरलाइन्स की लिस्ट जारी की है.

safest airlines

Source: cnn

इसके अनुसार कोरोनाकाल में इनकी फ़्लाइट्स से यात्रा करना सेफ़ रहेगा. इनमें  Air Baltic, Air New Zealand, Alaska Airlines, Cathay Pacific Airways, Delta Air Lines, Emirates, Etihad Airways, Eva Air, All Nippon Airways, AirAsia, British Airways, Japan Airlines, JetBlue, KLM, Korean Airlines, Lufthansa, Singapore Airlines, Southwest, Qatar Airways और  WestJet का नाम शामिल है.

safest airlines

Source: airlineratings

 

इस वेबसाइट के एडिटर इन चीफ़ Geoffrey Thomas के अनुसार, ये सभी एयरलाइन्स यात्रियों की सुरक्षा का ख़्याल रखने के साथ ही यात्रा को पैसेंजर के लिए आरामदायक बनाने का पूरा-पूरा ख़्याल रखती हैं. इन्होंने यात्रा पहले से अधिक सुरक्षित बनाने में नए मानक तय कर अन्य एयरलाइन्स के सामने नई नज़ीर पेश करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है.

safest airlines

Source: cntraveller

इस सर्वे में वेबसाइट ने 430 एयरलाइन्स पर रिसर्च की थी. इसमें ये देखा गया था कि ये कंपनियां कोरोना काल में हवाई यात्रा से जुड़े सभी नियमों का पालन कर रही हैं कि नहीं. वेबसाइट के मुताबिक, इनमें से 119 ने 7 स्टार की रेटिंग हासिल की है. वहीं 117 को ज़ीरो रेटिंग मिली है. क्योंकि उन्होंने कोरोना महामारी के बीच यात्रा से जुड़े नियम-कायदों की लिस्ट को सार्वजनिक नहीं किया है.

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.