Connect with us

बॉलीवुड

182 बार मौत के सीन फिल्मा चुका है ये एक्टर, एक बार तो सच में मौत जैसे छूकर निकल गई

Published

on

फिल्मों में विलेन के किरदार निभाने के लिए मशहूर एक्टर आशीष विद्यार्थी (Ashish Vidyarthi) 59 साल के हो गए हैं। 19 जून, 1962 को केरल के कन्नूर में जन्मे आशीष विद्यार्थी को फिल्मों में एक्टिंग करते हुए करीब 182 बार मरना पड़ा है। वैसे, एक बार फिल्म की शू टिंग के दौरान आशीष विद्यार्थी रियल में ही डूबने लगे थे। ऐसे में वहां मौजूद लोगों को पहले लगा कि यह कोई फिल्म का सीन चल रहा है और यही सोचकर कोई उन्हें बचाने ही नहीं आया। बाद में एक पुलिसवाले ने बड़ी मुश्किल से उनकी जान बचाई थी। शू टिंग के दौरान जब बेहद करीब से गुजरी मौत…

 

छत्तीसगढ़ में दुर्ग की महमरा एनीकट नामक जगह में एक फिल्म ‘बॉलीवुड डायरी’ की शू टिंग के दौरान आशीष विद्यार्थी और उनका एक साथी कलाकार डूबते-डूबते बचा था। दोनों को एक पुलिसकर्मी विकास सिंह ने बचाया था। उनकी ड्यूटी शू टिंग स्पॉट पर ही थी।

छत्तीसगढ़ में दुर्ग की महमरा एनीकट नामक जगह में एक फिल्म ‘बॉलीवुड डायरी’ की शू टिंग के दौरान आशीष विद्यार्थी और उनका एक साथी कलाकार डूबते-डूबते बचा था। दोनों को एक पुलिसकर्मी विकास सिंह ने बचाया था। उनकी ड्यूटी शू टिंग स्पॉट पर ही थी।

 

दरअसल, शू टिंग के दौरान आशीष को पानी में उतरना था, लेकिन इस दौरान वो ज्यादा गहरे पानी में चले गए और डूबने लगे। वहां मौजूद लोगों को लगा कि यह फिल्म का ही कोई सीन है, ऐसे में कोई मदद के लिए नहीं दौड़ा। फिर पुलिस कर्मी विकास ने उनकी जान बचाई थी।

आशीष विद्यार्थी ने खुद एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि कभी-कभी तो डायरेक्टर भी परेशान हो जाते थे कि अब इस फिल्म में इसे कैसे मारें और उसका नया तरीका क्या हो? आशीष के मुताबिक हर बार नेगेटिव रोल प्ले करने से जीवन में उन्हें काफी कुछ सीखने को मिला है।

 

 

आशीष विद्यार्थी को फिल्मों में नेगेटिव रोल के लिए जाना जाता है। फिल्म ‘द्रोहकाल’ के लिए उन्हें बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर कैटेगरी में नेशनल अवॉर्ड मिल चुका है। विद्यार्थी की मां रेबा बंगाली मूल की कथक डांसर हैं, जबकि उनके पिता गोविंद विद्यार्थी मलयाली थिएटर के जाने-माने कलाकार हैं।

 

वहीं, आशीष की पर्सनल लाइफ की बात करें तो उन्होंने एक्ट्रे स राजोशी बरुआ से शादी की है। राजोशी दिखने में जितनी खूबसूरत हैं, उतनी ही बेहतरीन अदाकारा भी हैं। राजोशी टीवी सीरियल ‘सुहानी सी एक लड़की’ में काम कर चुकी हैं। इसके अलावा वो सती, डायमंड रिंग और गुरुदक्षिणा जैसी फिल्मों में भी नजर आ चुकी हैं।

 

 

आशीष विद्यार्थी और राजोशी का एक बेटा है, जिसका नाम अर्थ है। बता दें कि आशीष का सरनेम ‘विद्यार्थी’ मशहूर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी गणेश शंकर विद्यार्थी के नाम से प्रेरित है।

आशीष विद्यार्थी ने अब तक बाजी, नाजायज, जीत, भाई, दौड़, जिद्दी, मेजर साब, सोल्जर, हसीना मान जाएगी, अर्जुन पंडित, जानवर, वास्तव, बादल, कहो ना प्यार है, बिच्छू, जोरू का गुलाम, रिफ्यूजी, एक और एक ग्यारह, एलओसी कारगिल, जाल, किस्मत, शिकार, जिम्मी, रक्तचरित्र, बर्फी, राजकुमार, हैदर, अलीगढ़ और बेगम जान जैसी फिल्मों में काम कर चुके हैं।

 

 

इसके साथ ही आशीष विद्यार्थी हम पंछी एक चॉल के, ट्रक धिनाधिन, दास्तान, 24 और कहानीबाज जैसे टीवी सीरियल्स में भी नजर आ चुके हैं।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Exit mobile version