Connect with us

विशेष

अजनबियों की गोद में फेंक रही हैं जिगर के टुकड़े, मिन्नत भी की- इन्हें बचा लो’

Published

on

अफगानी माताओं (Afghan Mothers)  की बेबसी देखकर अफगानिस्तान (Afghanistan) पर पड़े मानवीय संकट (Humanitarian Crisis) का अंदाज़ा लगाया जा सकता है. अमेरिका (America) और ब्रिटेन (Britain) से आ रहे प्लेन पर लोगों के टूट पड़ने की तस्वीरें तो आपने देखी ही होंगी, अब वहां की मांओं (Afghan Mothers) की बेबसी भी जान लीजिए, जो बच्चों की जान बचाने के लिए उन्हें अजनबियों की गोद (Afghani Mothers Throwing Babies) में फेंक रही हैं.

Afghanistan news: Mothers throw babies over barbed wire fences at Kabul airport | Metro News

दिल दहला देने वाले वीडियो (Heart Breaking Video) में महिलाएं (Afghan Mothers) अपने जिगर के टुकड़ों को जिस तरह कंटीले तारों (Throwing Babies over barbed wire) के ऊपर से उस पार फेंक रही हैं, उसे देखकर किसी का भी दिल सहम जाए. उनकी मजबूरी ही इतनी बड़ी है कि उन्हें बच्चे की जान और भविष्य में से किसी एक को चुनना है. बच्चे भी नहीं जानते कि उनका क्या होगा और मां (Afghan Mothers) को भी नहीं पता है कि वो कहां जाएंगे? वे सिर्फ इतना समझती हैं कि जहां भी रहेंगे, तालिबान से बेहतर रहेंगे.

Afghanistan, afghanistan people, humanitarian crisis, afghan mothers, afghan women, afghan kids, afghanistan girl, afghani girls, taliban regime,taliban terror, terroriism, tliban rules,afghanistan seeking help, Social Media, Afghanistan Crisis, afghanistan taliban news, Taliban News

अजनबी हाथों में अपने देश से ज्यादा सुरक्षित हैं बच्चे
अफगानिस्तान की महिलाओं (Afghan Women) की स्थिति ये है कि वे खुद अगर तालिबानियों के चंगुल से नहीं निकल सकतीं तो कम से कम अपने बच्चों को ज़िंदा नर्क (Hell on Earth) से निकालने की उम्मीद कर रही हैं. वे कंटीले तारों के उस पार खड़े सैनिकों की गोद में अपने बच्चों को फेंकते हुए इस बात की भी परवाह नहीं कर रही हैं कि उन्हें चोट लग सकती है.

Heartbreaking: Desperate Afghan mothers throw children over Kabul airport fence in bid to escape Taliban, South Asia News | wionews.com

उन्हें लगता है कि ये जख्म तालिबानियों (Afghanistan Taliban) के कहर के सामने कुछ भी नहीं हैं. ये तालिबान (Taliban Terrorism) का खौफ ही है कि वे नवजात बच्चों को भी खुद से अलग करने को तैयार हैं, लेकिन तालिबानी राज में उनका पलना उन्हें मंजूर नहीं.

सैनिकों की आंखों के आंसू बंद नहीं हो रहे
Sky News से बात करते हुए अमेरिकी सेना के अधिकारी (US Army Officials) का कहना है कि काबुल में जो नज़ारा इस वक्त देखने को मिल रहा है, वो कलेजा चीर देने वाला है. विदेशी सैनिकों के हाथ में अफगानी माएं अपने बच्चों को कंटीले तारों के ऊपर से फेंक रही हैं. ऐसे मानवीय संकट को देखकर विदेशी सैनिक रो पड़ते हैं.

UK Soldiers 'Cried' As Afghan Mothers Flung Babies Over Kabul Airport Razor Wire

वे मानसिक रूप से इतने परेशान हो चुके हैं कि उन्हें काउंसिंग की ज़रूरत पड़ रही है. महिलाओं की हालत ऐसी है कि वे अपने ही परिवार से भाग रही हैं. परिवार के पुरुष तालिबानी सेना में शामिल हो गए हैं, ऐसे में महिलाओं की हालत ये है कि वे बच्चों समेत दुनिया में कहीं भी जाने को तैयार हैं, लेकिन अफगानिस्तान में नहीं रहना चाहतीं. कुछ देशों में उन्हें शरण देने की प्रक्रिया चल रही है, लेकिन इतने सारे लोगों के लिए व्यवस्था कर पाना भी आसान नहीं है.

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *