Connect with us

कोरोना वायरस

तबीयत बिगड़ी तो ऑक्सीजन के लिए पीपल के पेड़ के नीचे जाकर लेट गए मरीज

Published

on

तबीयत बिगड़ी तो ऑक्सीजन के लिए पीपल के पेड़ के नीचे जाकर लेट गए मरीज

शाहजहांपुर के तिलहर में शनिवार को अजब गजब देखने को मिला। यहां चार-पांच लोगों को सांस लेने में जब दिक्कत हुई तो उन्होंने आकसीजन सिलेंडर ढूंढना शुरू किया, लेकिन वह मिला नहीं। किसी ने बता दिया कि पीपल के पेड़ 24 घंटे ऑक्सीजन देते हैं, इसके बाद 5 से मरीज अपने तीमारदारों के साथ तिलहर में गुनगुन मैरिज लॉन वाली रोड पर जाकर एक पीपल के पेड़ के नीचे लेट गए, उन्हें वहां कुछ आराम मिला या नहीं मिला या तो पता नहीं, लेकिन तमाम लोग पीपल के पेड़ के नीचे लेटे मरीजों को देखने के लिए उमड़ पड़े।

तिलहर के मोहल्ला बहादुरगंज निवासी कई परिवारों के लोग करीब 3 दिन से फतेहगंज गैसरा जाने वाली सड़क के किनारे लगे पीपल के पेड़ के नीचे दिन रात पड़े हुए हैं। इनकी हालत कई दिन से खराब थी। यह सभी अस्पताल गए, लेकिन एंटीजन जांच में रिपोर्ट निगेटिव आई, लेकिन संक्रमण के सभी लक्षण इन लोगों के अंदर थे।

जानिये, शनिवार को पीपल पर क्यों चढ़ाते हैं कच्‍चा दूध... - dharma significance of peepal puja path on saturday tpra - AajTak

अस्पताल वालों ने रिपोर्ट निगेटिव देखकर भर्ती करने से भी मना कर दिया और घर भेज दिया। घर में हालत खराब हो गई। ऑक्सीजन सिलेंडर कहीं मिला नहीं। इस बीच किसी ने राय दी कि पीपल के पेड़ के नीचे लेट जाओ तो ऑक्सीजन भरपूर मिलेगी। दो दिन से 5 लोग जहां पीपल के पेड़ के नीचे लेटे हुए हैं, हालांकि उन्होंने यह भी बताया कि उन्हें घर में सांस लेने में ज्यादा दिक्कत थी, लेकिन यहां आराम मिला है।

जानकारी मिलने पर तिलहर विधायक रोशनलाल भी पेड़ के नीचे लेटे मरीजों से मिलने के लिए पहुंचे और उन्हें जल्द से जल्द डॉक्टरी सहायता दिलाने के लिए उन्होंने प्रयास शुरू किए हैं।

Source Live Hindustan

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *