Connect with us

विशेष

रिजॉर्ट के ही एक कमरे में क्यों रहने को मजबूर थी अंकिता, जानेंगे तो हिल जाएंगे

Published

on

रिजॉर्ट के ही एक कमरे में क्यों रहने को मजबूर थी अंकिता, जानेंगे तो हिल जाएंगे

Ankita Bhandari Murder Case: उत्तराखंड में पौड़ी की बेटी अंकिता भंडारी की हत्या पर गुस्सा बरकरार है। हालांकि तय समय से दस घंटे बाद रविवार को अलकनंदा नदी तट पर आईटीआई के पास श्मशान घाट पर अंकिता का अंतिम संस्कार किया गया। मुखाग्नि उसके भाई ने दी। इस दौरान प्रदेशभर में आरोपियों को कड़ी सजा देने की मांग को लेकर प्रदर्शन हुए और रैलियां निकालीं गईं। वहीं, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि अंकिता के साथ जघन्य अपराध हुआ है। इस अपराध में कोई भी अपराधी जांच से नहीं बचेगा और न ही किसी कीमत पर छूटेगा। दोषियों को सख्त और जल्द से जल्द सजा दिलाने के लिए सरकार संकल्पबद्ध है। इसके लिए मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाया जाएगा। वहीं, अंकिता हत्याकांड में रोजाना नए-नए खुलासे हो रहे हैं। अंकिता के रिजॉर्ट के एक कमरे में रहने को लेकर चौंकाने वाला खुलासा हुआ है।

दरअसल, अंकिता और उसके दोस्त पुष्प दीप के बीच बातचीत की ऑडियो रिकार्डिंग सोशल मीडिया पर वारयल हो रही है। अंकिता की जम्मू में नौकरी करने वाले मित्र पुष्प की घटना के दिन अंतिम बार फोन पर बात हुई थी। रात को करीब 8.30 बजे अंकिता ने फोन पर पुष्प को बताया कि वह फंस गई।

 

3 of 13

अंकिता हत्याकांड – फोटो : अमर उजाला

पुष्प दीप ने अंकिता को अगले दिन किसी को भेजकर घर श्रीकोट पहुंचाने की बात कही थी। अगर अंकिता एक दिन रुक जाती तो उसकी जान बच सकती थी।

इसी रिजॉर्ट में काम करती थी अंकिता – फोटो : अमर उजाला

आपको बता दें कि घटना के दिन अंकिता की पुलकित आर्य और मैनेजर अंकित गुप्ता के साथ तीखी बहस हुई थी। अंकिता चीख रही थी…चिल्ला रही थी और रो भी रही थी। रिजॉर्ट के शेफ आदि कर्मचारी सब सुन रहे थे, लेकिन कोई भी विरोध की हिम्मत नहीं जुटा पाया।

अंकिता के दोस्त पुष्प दीप ने फोन पर उससे कहा था कि वह किसी को भेजकर अगले दिन उसे घर छुड़वा देगा। लेकिन आरोपी अंकिता को जबरन गाड़ी में बैठाकर अपने साथ ले गए और बैराज में धक्का दे दिया।

 

जांच में सामने आया कि अंकिता का गांव रिजॉर्ट से करीब डेढ़ सौ किमी दूर था। इसीलिए रोज आनाजाना मुमकिन नहीं था। इसी कारण अंकिता रिजॉर्ट के ही एक कमरे में रह रही थी। उसका बैग आदि सामान भी इसी कमरे में था। वह इसी बैग को रिजॉर्ट से अपने पास लाने की बात कर रही थी। अंकिता रिजॉर्ट छोड़कर जाना चाहती थी।

 

उसने रिजॉर्ट के रसोइए को फोन कर उसका बैग किसी दुकान तक लाने के लिए कहा था। तब वह बहुत रो रही थी। रसोइया कहीं बाहर था, वह अंकिता को बोलता है कि मैं आ रहा हूं और वह अपने साथी को बाइक को वापस रिजॉर्ट की तरफ घुमाने के लिए भी कहता है।

 

वहीं, अंकिता की उसके दोस्त के साथ व्हाट्सएप पर हुई चैट भी वायरल हो रही है। इस मामले में डीजीपी अशोक कुमार ने मीडिया से कहा कि चैट से जाहिर है कि अंकिता पर गलत काम करने का दबाव था।

 

गौरतलब है कि शनिवार को सोशल मीडिया पर अंकिता और उसके दोस्त के कई व्हाट्सएप चैट वायरल हो गए।  इनमें अंकिता ने वहां पर आने वाले एक मेहमान और अंकित के बारे में बहुत कुछ बताया है। उसने कई बार लिखा कि अब वह यहां पर काम नहीं करेगी। अंकित उससे बहुत से गलत काम करने को कहता है।

 

अंकित उसे धमकाता था कि यदि उसने ग्राहकों को मना किया तो यहां लड़ाई हो जाएगी। वह धमकी देता था कि वह उसे काम से निकाल देगा। चैट में दोस्त अंकिता को बार-बार कॉल करने को कहता रहा लेकिन वह मना करती रही।

 

अंकिता ने कहा कि आवाज आएगी तो अंकित यहां आ जाएगा। यह सारी बातें दोनों के बीच 17 सितंबर यानी अंकिता की मौत से एक दिन पहले हुई थीं। चैट में अंकिता ने कहा रिजॉर्ट में आए एक ग्राहक ने शराब के नशे में जबरन उसे हग करने की कोशिश की।

 

अंकिता ने कहा कि… अंकित बोल रहा है कि तुम्हें गेस्ट हैंडल करने हैं। अगर नहीं किया तो तुम्हें काम से हटा देंगे और दूसरी लड़की को रख लेंगे। दोस्त ने पूछा कि यह किसने बोला आर्यन ने, तो अंकिता ने हामी भरी।दोस्त ने अंकिता को समझाया कि वे उसे हटाएंगे नहीं..डोन्ट वरी।

 

अंकिता ने बताया … मंडे को वीआईपी गेस्ट आ रहे हैं और उन्हें एक्स्ट्रा सर्विस देनी है। मैंने बोला तो मैं क्या करूं। इस पर उसने कहा कि स्पा वगैरह…। इस पर अंकिता कहा… मैं बहुत इनसिक्योर फील कर रही हूं। बहुत गंदा होटल है, मुझे यहां काम नहीं करना।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Exit mobile version