Connect with us

लाइफ स्टाइल

बिना हिजाब फोटो पोस्ट की तो आतंकियों ने किया कि डनैप, व र्जिनिटी टेस्ट का खतरा

Published

on

यमन में हूती वि द्रोहियों द्वारा अगवा की गई बीस वर्षीय मॉ डल यमनी इंतिसार अल-हम्मादी का व र्जिनिटी टेस्ट कराया जा सकता है. यह आशंका एमनेस्टी इंटरनेशनल ने जताई है. यमनी इंतिसार अल-हम्मादी को हूती वि द्रोहियों के एक समूह ने अगवा कर लिया था.

Photo: Intisar al-Hammadi

virginity testing

रॉयटर्स ने अपनी एक रिपोर्ट में एमनेस्टी इंटरनेशनल के हवाले से इसके बारे में जानकारी दी है. एमनेस्टी इंटरनेशनल ने कहा है कि हिजाब के बिना तस्वीरें खिंचवाने को लेकर ईरान समर्थित हूती वि द्रोहियों द्वारा अगवा की गई 20-वर्षीय मॉ डल का जबरन व र्जिनिटी टेस्ट कराया जा सकता है.

Photo: Intisar al-Hammadi

virginity testing

दरअसल, बीस वर्षीय मॉ डल यमनी इंतिसार अल-हम्मादी को फरवरी में राजधानी सना में एक चेकपॉइंट पर गिरफ्ता र किया गया था, यह चेकपॉइंट उस जगह स्थित है जो हूती वि द्रोहियों द्वारा नियंत्रित है. अगवा की गई मॉ डल पर हूती वि द्रोहियों ने कई आरो प लगाए हैं.

Photo: Intisar al-Hammadi

virginity testing

रॉयटर्स के मुताबिक, हूती वि द्रोहियों ने मॉ डल पर अश्लील हरकत करने और इस्लामिक सिद्धांतों के खिलाफ जाने का आरो प लगाया था. आरो प में यह बताया गया कि अल-हम्मादी नियमित रूप से सोशल मीडिया पोस्टों सहित ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स पर अपनी तस्वीरें पोस्ट करती थीं, इन्हीं तस्वीरों में मॉ डल ने उन सिद्धांतों की अवहेलना की है.

virginity testing

मॉ डल को बीती 20 फरवरी को सना में एक चौकी पर पकड़ लिया गया था. हिरासत में लिए जाने के दौरान, उनकी आंखें बंद करके उसके साथ दुर्व्यवहार भी किया गया था. रिपोर्ट के मुताबिक मॉ डल पर दबाव बनाकर कई अपराधों के लिए ‘कबूल’ करने के लिए मजबूर किया गया था.

virginity testing

एमनेस्टी ने कहा कि मॉ डल के वकील को बुधवार को यह सूचना मिली है कि उसका व र्जिनिटी टेस्ट कराने की योजना चल रही है. हालांकि एमनेस्टी का कहना है कि व र्जिनिटी टेस्ट के लिए मजबूर करना अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत यातना देने के लिए यौन हिंसा का एक रूप है.

Photo: Reuters

virginity testing

बता दें कि हूती वि द्रोहियों के पास आधारहीन आरो पों पर लोगों को मनमाने तरीके से हिरासत में लेने का ट्रैक रिकॉर्ड है. आलोचकों, कार्यकर्ताओं, पत्रकारों और धार्मिक अल्पसंख्यकों के सदस्यों को चुप कराने या दंडित करने के लिए, साथ ही उन्हें यातना देने के कई मामले सामने आ चुके हैं.

Photo: Getty Images

virginity testing

अपनी रिपोर्ट में रॉयटर्स ने यह भी लिखा कि इस मामले पर जब हूती वि द्रोहियों से बात करने की कोशिश की गई तो उसका जवाब नहीं दिया गया. रिपोर्ट के मुताबिक अप्रैल में अगवा मॉ डल के वकील से एक बं दूकधारी ने संपर्क किया था और उसे केस छोड़ने की ध मकी भी दी गई थी.

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *